बनारस भी आ सकती हैं प्रियंका, रणनीतिक तौर पर भी निशाने पर रहा है पीएम का संसदीय क्षेत्र

बनारस भी आ सकती हैं प्रियंका, रणनीतिक तौर पर भी निशाने पर रहा है पीएम का संसदीय क्षेत्र


नागरिकता संशोधन कानून के विरोध प्रदर्शन में जेल में बंद लोगों से मिलने कांग्रेस राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा बनारस भी आ सकती हैैं।

वाराणसी,(भारत 9)। नागरिकता संशोधन कानून के विरोध प्रदर्शन में जेल में बंद लोगों से मिलने कांग्रेस राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा बनारस भी आ सकती हैैं। हिरासत में लिए गए प्रदर्शनकारियों के समर्थन में मंगलवार को उनके ट्वीट से इसकी संभावना जताई जा रही है। इसमें उन्होंने लिखा है कि- बनारस में कई सारे छात्र, अंबेडकरवादी, गांधीवादी और सामाजिक कार्यकर्ता शांतिपूर्ण तरीके से नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे। पुलिस ने उनको जेल भेज दिया है। एक परिवार का एक साल का बच्चा अकेले है। शांतिपूर्ण प्रदर्शन की ये सजा। सरकार का व्यवहार हद से बाहर हो चुका है।

प्रियंका का वाराणसी को लेकर यह ट्वीट देखते ही देखते वायरल हो गया। इस ट्वीट के साथ ही उन्होंने बीएचयू के छात्र राज अभिषेक सिंह, धनंजय त्रिपाठी, दीपक सिंह, चंदन सागर, अनंत शुक्ल, अर्पित गिरि, दिवाकर सिंह, विवेक मिश्र, रवींद्र भारतीय, शहीद जमाल, नीरज राय और रोहन कुमार आदि की तस्वीर भी साझा की है। उन्होंने ट्वीट में सामाजिक कार्यकर्ता एकता शेखर का भी जिक्र किया है जो एक साल की बेटी के बिना जेल में है। प्रियंका सीएए के विरोध में जेल में बंद लोगों से मिलने मेरठ जाने का प्रयास कर चुकी हैैं जहां पुलिस ने उन्हें वापस लौटा दिया था। पीएम का संसदीय क्षेत्र बनारस वैसे भी कांग्रेस राष्ट्रीय महासचिव के निशाने पर रहा है। पूर्वी उत्तर प्रदेश का प्रभारी बनने के बाद निकाली गई यात्रा में भी वे काशी आई थीं। प्रियंका की एडवाइजरी कमेटी के सदस्य पूर्व मंत्री अजय राय ने किसी आधिकारिक सूचना से इन्कार किया। हालांकि कांग्रेस संगठन उनके आगमन को लेकर सतर्क भी दिख रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *