प्रदेश सरकार पर्यावरण प्रदूषण पर नियंत्रण के लिए बहुत गंभीर है : दुष्यंत चौटाला

प्रदेश सरकार पर्यावरण प्रदूषण पर नियंत्रण के लिए बहुत गंभीर है : दुष्यंत चौटाला

हिसार/चंडीगढ़, 8 जनवरी (संदीप सैनी)प्रदेश के उप-मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा है कि प्रदूषण की समस्या से निपटने के लिए प्रदेश सरकार ने फैसला लिया है कि हरियाणा परिवहन के बेड़े में इलेक्ट्रिक बसें शामिल की जाएंगी। उप-मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने यह जानकारी आज हिसार स्थित पीडब्ल्यूडी बीएंडआर विश्राम गृह में पत्रकारों से बातचीत के दौरान दी। इससे पूर्व उन्होंने यहां जनसमस्याएं भी सुनीं। जिला के विभिन्न गांवों से आए 700 से अधिक लोगों ने अपनी समस्याएं व शिकायतें उपमुंख्यमंत्री के समक्ष रखीं जिन्हें संबंधित विभागों के अधिकारियों को सुपर्द करते हुए दुष्यंत चौटाला ने इनके जल्द समाधान के संबंध में निर्देश दिए।


रोडवेज बेड़े में इलेक्ट्रिक बसें शामिल करके प्रदूषण किया जाएगा कंट्रोल-उप मुख्यमंत्री

डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने कहा कि प्रदेश सरकार पर्यावरण प्रदूषण पर नियंत्रण के लिए बहुत गंभीर है। एनजीटी के कार्बन उत्सर्जन पर रोक के प्रयासों के बीच प्रदेश सरकार ने अन्य उपायों के साथ ही अब हरियाणा रोडवेज के बेड़े में इलेक्ट्रिक बसें शामिल करने का फैसला लिया है। यह बसें सिटी बस सर्विस से लेकर अंतर-जिला सेवाओं के लिए इस्तेमाल की जाएंगी।

अगले 6 माह में होगा हिसार एयरपोर्ट के रनवे का विस्तार – दुष्यंत चौटाला

इस दौरान पत्रकारों द्वारा हिसार एयरपोर्ट की सेवाओं के संबंध में पूछे गए एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने हिसार एयरपोर्ट रनवे के विस्तार के लिए पर्यावरण विभाग से मंजूरी मांगी है। इससे हिसार एयरपोर्ट से दूसरे चरण की हवाई सेवाएं शुरू हो सकेंगी। रनवे विस्तार के मार्ग में एक नाले व महिला बाल विकास विभाग के एक केंद्र की अड़चन को हटाने का प्रस्ताव भी मंजूर हो गया है। उन्होंने कहा कि अगले 6 माह में एयरपोर्ट रनवे का विस्तार करने का मार्ग प्रशस्त होगा।

उप-मुख्यमंत्री ने बताया कि प्रदेश सरकार ने अपने वर्तमान कार्यकाल के प्रथम 60 दिन में ऐतिहासिक निर्णय लिए हैं। उन्होंने कहा कि सरकारी नौकरियों के लिए परीक्षा केंद्र परीक्षार्थियों के गृह जिला के 50 किलोमीटर के दायरे में बनाने का फैसला लिया है। इसी प्रकार पेंशन लाभार्थियों के हित में 250 रुपये प्रतिमाह पेंशन में बढ़ोतरी की गई है। निचली अदालत से लेकर उच्च न्यायलय तक हिंदी भाषा का प्रयोग शुरू करने का निर्णय लिया गया है जिससे ग्रामीण अंचल के लोगों को न्यायालय के फैसलों को समझने में आसानी होगी।

डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने पीडब्ल्यूडी विश्राम गृह में सुनीं 700 से अधिक जन समस्याएं

उप-मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने प्रदेश सरकार की अन्य कई महत्वपूर्ण योजनाओं व नीतियों की जानकारी भी मीडियाकर्मियों से साझा की। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार जनहित में हर वो निर्णय लागू कर रही है जिसमें आमजन का हित निहित है। इससे पूर्व उन्होंने जनसमस्याएं सुनीं। जिला के शहरी व ग्रामीण अंचल से बड़ी संख्या में लोगों की भीड़ उप-मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला से मिलने व अपनी समस्याएं बताने के लिए विश्राम गृह पहुंची। इस दौरान लोगों ने सम्मान भत्ता, पेंशन, मूलभूत सुविधाओं, बिजली कनेक्शन, पेयजल आपूर्ति, बीपीएल राशन कार्ड, गलियों-सडक़ों, बीमा मुआवजा व नौकरी दिलाने सहित अन्य मांगें डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला के समक्ष रखीं।

इस अवसर पर जजपा के जिला अध्यक्ष जयपाल बांडाहेड़ी, पूर्व विधायक पूर्ण सिंह डाबड़ा, संगठन सचिव राजेंद्र लितानी, एडवोकेट आरएल विमल, धारा सिंह, राजमल काजल, प्रवक्ता मंदीप बिश्रोई सहित पार्टी पदाधिकारी, कार्यकर्ता, अन्य गणमान्य व्यक्ति व विभिन्न विभागों के अधिकारी भी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *