नकाबपोशों को लेकर एक बड़ा खुलासा,उनकी पहचान कर ली गई है।

नकाबपोशों को लेकर एक बड़ा खुलासा,उनकी पहचान कर ली गई है।

(Bharat 9)जवाहर लाल नेहरू विश्‍वविद्यालय(जेएनयू) में हुई मारपीट मामले नकाबपोशों को लेकर एक बड़ा खुलासा हुआ है। सरकारी सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार कुछ नकाबपोशों की पहचान हो गई है, जल्‍द ही पुलिस इस मामले में खुलासा करने वाली है। मिली जानकारी के अनुसार कुछ नकाबपोश जो वीडियो में सरकारी संपत्‍ति का नुकसान करने नजर आए थे उनकी पहचान कर ली गई है। अब इस मामले में पुलिस खुलासा कर उन पर शिकंजा कसेगी। बता दें कि देश की जानीमानी प्रतिष्‍ठित संस्‍था जेएनयू में बीते रविवार की रात को कुछ नकापोश लोगों ने घुसकर जमकर उत्‍पात मचाया था और छात्रों की जमकर पिटाई की थी। इस मारपीट की घटना में कुछ छात्र सहित कुछ शिक्षक भी घायल हुए थे।

नकाबपोशों को लेकर गृहराज्‍यमंत्री नित्‍यानंद राय ने कहा कोई भाजपा का कार्यकर्ता
नहीं था
जेएनयू में नकाबपोश हमलावरों के हमले पर केंद्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय ने कहा है कि भाजपा का कोई भी कार्यकर्ता या नेता हिंसा नहीं भड़का सकता है। उन्होंने कहा कि हमले के पीछे कांग्रेस और आप का हाथ है। उल्लेखनीय है कि रविवार को नकाबपोश भीड़ ने जेएनयू में छात्रों और प्राध्यापकों पर हमला किया। इसमें 35 से अधिक छात्र घायल हो गए। इसके अलावा संपत्ति को भी नुकसान पहुंचाया गया। जेएनयू छात्र संघ ने इस हमले का आरोप आरएसएस से संबद्ध अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) पर लगाया है। दूसरी तरफ एबीवीपी का कहना है कि इसके पीछे वाम कार्यकर्ताओं का हाथ है।

देश भर में हो रहा है विरोध

बता दें कि जेएनयू कैंपस में हुए हिंसक घटना के बाद से इसका विरोध देश भर में हो रहा है। नेता से लेकर सिने जगत के सितारे इसका विरोध कर रहे हैं। इसी कड़ी में छात्रों की तरफ से आयोजित सभा में मंगलवार शाम बॉलीवुड अभिनेत्री दीपिका पादुकोण पहुंचीं। इसके अलावा यहां पहुंचे सीपीआइ नेता डी. राजा, जेएनयू छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने छात्रों को संबोधित किया। जबकि दीपिका ने छात्रों को संबोधित नहीं किया।उन्होंने छात्रसंघ अध्यक्ष आईशी घोष से बात की। हालांकि संस्थान के छात्रों ने कहा कि दीपिका छात्रों का साथ देने के लिए आईं थीं और उन्होंने इस घटना का विरोध किया। सभा में छात्रों ने नारेबाजी भी की।

छात्र खत्म करें हड़ताल

जेएनयू के रेक्टर-1 चिंतामणी महापात्र ने कहा कि रविवार को जैसे ही मारपीट शुरू हुई तुरंत पुलिस को सूचित किया गया। उन्होंने छात्रवास की फीस बढ़ोतरी के विरोध में आंदोलन कर रहे छात्रों से कहा कि वह अपनी हड़ताल को खत्म करें। कैंपस में स्थिरता लाने के लिए काम किया जा रहा है। सेमेस्टर के लिए पंजीकरण की प्रक्रिया शुरू किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *