दवा विक्रेता से 20 लाख की फिरौती मांगने का मामला, दवा विक्रेताओं ने किया ये काम !

दवा विक्रेता से 20 लाख की फिरौती मांगने का मामला, दवा विक्रेताओं ने किया ये काम !

: झज्जर में दुकानों पर ताले लटका सड़कों पर उतरे दवा विक्रेता
: पुलिस को घटना को लेकर कुछ भी बोलने से इन्कार
: दवा विक्रेताओं ने प्रदर्शन कर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने की दी चेतावनी

झज्जर (सुमित कुमार) :-
पिछले दिनों झज्जर के एक दवा विक्रेता से 20 लाख की फिरौती मांगने के मामले को लेकर झज्जर में दवा विक्रेता हड़ताल पर चले गए। अपनी दुकानों पर ताले लटका कर दवा विक्रेताओं ने यहां लघु सचिवालय के बाहर प्रदर्शन किया और आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की। प्रदर्शन करने से पूर्व शहर के सभी दवा विक्रेता यहां हरिपुरा मौहल्ला स्थित रामधर्मशाला में एकत्रित हुए और बाद में प्रदर्शन करते हुए यहां लघु सचिवालय पहुंचे। यहां उन्होंने लघु सचिवालय प्रांगण में प्रदर्शन किया। इस दौरान दवा विक्रेताओं ने प्रशासन को एक ज्ञापन भी दिया,जिसमें आरोपियों को जल्द गिरफ्तार करने की मांग की गई। बता दें कि कुछ रोज पूर्व झज्जर के एक होलसेल दवा विक्रेता मुकेश पोपली को उनके लैंडलाईन पर एक फोन कर 20लाख रूपए की फिरौती मांगी गई थी।

हांलाकि बाद में पुलिस ने पीडि़त व्यापारी को सुरक्षा मुहैया करा दी थी। लेकिन घटना के कई रोज बीत जाने के बाद भी घटना से जुड़े मुख्य आरोपी पुलिस पकड़ से बाहर है। पुलिस ने गत दिवस इस मामले में घटना से जुड़े उन दो लोगों को गिरफ्तार किया था,जिनके नाम पर सिम एक्टिवेट की गई थी और व्यापारी को धमकी देकर बीस लाख रूपए की फिरौती मांगी गई थी। लेकिन मुख्य आरोपियों की गिरफ्तारी न होने के चलते सोमवार को झज्जर के सभी दवा विक्रेता हड़ताल पर चले गए और आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए प्रदर्शन किया। फिरौती मांगने की इस घटना को लेकर पुलिस के किसी भी अधिकारी ने कैमरे के सामने कुछ भी बोलने से इन्कार कर दिया।  दवा विक्रेता मुकेश पोपली ने बताया कि 4 अगस्त को उनकी दुकान पर लगे लैंडलाईन फोन पर आए एक फोन से उन्हें धमकी मिली थी और बीस लाख रूपए की फिरौती की रकम मांगी गई थी। दवा विक्रेताओंं का प्रशासन को परेशान करने का कतई मकसद नहीं है। लेकिन हम सभी चाहते है कि हम भयमुक्त व्यापार चलाए और घटना के जो भी आरोपी है उन्हें जल्द ही पकड़ा जाए। फिलहाल शहर के दवा विक्रेताओं ने दो दिनों के लिए हड़ताल की है। लेकिन यदि आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हुई तो हरियाणाभर के दवा विक्रेता अनिश्चितकालीन हड़तालपर चले जाएगें।
व्यापार मंडल ने की निंदा:
शहर के दवा विक्रेता मुकेश नागपाल को फोन पर धमकी देकर मांगी गई बीस लाख की फिरौती की घटना को लेकर व्यापार मंडल कड़े शब्दों में निंदा करता है। इस घटना को लेकर सोमवार को एक ज्ञापन डीसी झज्जर को सौंपा गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *