जलेबी जैसे जाल में फंसा रही सरकार, सात गांवों के किसानों ने की महापंचायत..

जलेबी जैसे जाल में फंसा रही सरकार, सात गांवों के किसानों ने की महापंचायत..

• टमाटर उत्पादक किसानों के पक्ष में आई दूसरे गांवों के किसान
• सात गांवों के किसानों ने मिलकर की महापंचायत
• भावांतर भरपाई योजना को किसानों ने बताया छलावा
• ‘किसान को योजना में नाम फंसाए सरकार’
• ‘किसान का लागत मूल्य ही दे सरकार’

तोशाम(अनुपम शर्मा)। टमाटर की खरीद और उचित दाम ना मिलने से तोशाम में अपने खेत में धरना दे रहे किसानों के पक्ष में अब दूसरे गांवों के किसान भी आने लगे है। इसी को लेकर खरखड़ी सौहान, खरखड़ी मकवान, बागनवाला, झांवरी तोशाम, डाडम समेत सात गांवों के किसानों ने महापंचायत का आयोजन किया। इस दौरान किसानों ने कहा कि वे सरकार क भावांतर भरपाई योजना से संतुष्ट नहीं है, उन्हें सरकार की योजना नहीं, बल्कि अपनी फसल के नुकसान का मुआवजा चाहिए। पंचायत में फैसला लिया गया कि इस बारे में कृषि मंत्री और जिला उपायुक्त को अपनी मांगों के बारे में ज्ञापन सौंपा जाएगा, यदि इस पर भी सरकार कोई फैसला नहीं लेती तो जल्द ही रणनीति बनाकर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

Published By: Pooja Saini

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *