जजपा विधायक रामकुमार गौतम की बगावत के बाद उपमुख्‍यमंत्री दुष्‍यंत चौटाला ने सफाई दी है। उन्‍होंने कहा कि हम भाजपा के साझेदार हैं और हर किसी को मंत्री बनाना संभव नहीं है।

जजपा विधायक रामकुमार गौतम की बगावत के बाद उपमुख्‍यमंत्री दुष्‍यंत चौटाला ने सफाई दी है। उन्‍होंने कहा कि हम भाजपा के साझेदार हैं और हर किसी को मंत्री बनाना संभव नहीं है।

चंडीगढ़,(भारत 9) जननायक जनता पार्टी के संरक्षक और हरियाणा के डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने पार्टी के विधायक रामकुमार गौतम की बगावत के बाद पूरे मामले पर सफाई दी है। उन्‍होंने गौतम द्वारा लगाए गए आरोपों का जवाब दिया है और इसके साथ ही रामकुमार गौतम और बाकी विधायकों को बिना उग्र हुएसंयम बरतने की सलाह दी है। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि हर किसी को मंत्री नहीं बनाया जा सकता। हम भाजपा के साथ सरकार में साझीदार हैैं। हमारे लिए संगठन अहम होना चाहिए। संगठन को मजबूती प्रदान करना हम सभी विधायकों और कार्यकर्ताओं की जिम्मेदारी है।

विधायक रामकुमार गौतम के आरोपों पर उपमुख्‍यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने दी सफाई

दुष्‍यंत चौटाला ने रामकुमार गौतम के आरोपों को बेबुनियाद करार दिया। उन्‍होंने पूर्व वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु से मुलाकात को सिरे से खारिज कर दिया। दुष्यंत ने कहा कि रामकुमार गौतम हमारी पार्टी के वरिष्ठ विधायक हैैं। यदि उनको कोई बात कहनी है कि तो वह मुझसे मुलाकात कर सकते हैैं। आपसी संवाद में यदि मेरी कोई गलती हुई तो मुझे उसे स्वीकार करने में किसी तरह का संकोच नहीं होगा। वेसे बता दें कि गौतम ने दुष्यंत चौटाला से मुलाकात करने से पहले ही मना कर दिया है।

मंत्री बनने की चाह रखने वाले विधायकों को दुष्यंत ने दिखाया आईना

चंडीगढ़ स्थित पार्टी कार्यालय में कार्यकर्ताओं की समस्याएं सुनने के बाद दुष्यंत चौटाला ने मीडिया से बातचीत में कहा कि रामकुमार गौतम का इस्तीफा अभी तक पार्टी को नहीं मिला है। जजपा के उपाध्यक्ष पद से यदि उनका इस्तीफा आता है तो प्रदेश अध्यक्ष निशान सिंह को उस पर कोई भी फैसला लेने का अधिकार है। पार्टी के हक या विरोध में बयान देना अथवा टीवी पर दिखना, अलग-अलग बात हैैं।

कहा- गौतम पार्टी के वरिष्ठ विधायक, मुझसे गलती हुई तो स्वीकार कर लूंगा

रामकुमार गौतम की तल्ख टिप्पणियों से जुड़े सवाल पर दुष्यंत चौटाला ने कहा कि वह हमारी पार्टी के सीनियर नेता हैैं और मैैं उनकी किसी बात का बुरा नहीं मानता। यदि मैैं उनकी बात का बुरा मान गया तो बाकी विधायकों की भावनाओं को ठेस पहुंच सकती है। गौतम किस भावना से क्या बयान दे रहे हैैं, इस पर टिप्‍पणी नहीं कर सकता। वह आकर मुझसे मिलें और सारी बात बताएं। हो सकता है कि मैैं उनकी किसी भी आशंका का समाधान कर दूं। यदि मेरी कोई कमी लगी तो मैैं उसे उनके सामने ही मान लूंगा।

गुरुग्राम के एंबियंस माल में अजय सिंह चौटाला व कैप्टन अभिमन्यु की मुलाकात से जुड़े सवाल पर दुष्यंत ने कहा कि कैप्टन पिछली सरकार में शामिल थे। उनके अधिकतर विभाग अब मेरे पास हैैं, इसके बावजूद हमारी उनसे आज तक कोई मुलाकात नहीं हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *