जजपा के संरक्षक अजय चौटाला पार्टी में विधायक रामकुमार गाैतम की बगावत से पैदा संकट का समाधान करेंगे।

जजपा के संरक्षक अजय चौटाला पार्टी में विधायक रामकुमार गाैतम की बगावत से पैदा संकट का समाधान करेंगे।

चंडीगढ़, (भारत9)। हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला और जननायक जनता पार्टी के संरक्षक अजय सिंह चौटाला फरलो पर बाहर आने के साथ ही फील्ड में सक्रिय हो गए। इनेलो सुप्रीमो चौटाला हर जिले में कार्यकर्ताओं से रूबरू होकर संगठन को मजबूती के साथ खड़ा करने की कोशिश में हैैं। दूसरी ओर जजपा संरक्षक अजय चौटाला विधायक रामकुमार गाैतम की ‘बगावत’ से पार्टी में पैदा संकट का समाधान करेंगे।

अजय चौटाला कार्यकर्ताओं में नए जोश का संचार करते हुए पार्टी विधायकों से रूबरू होंगे। दो सप्ताह की फरलो पर तिहाड़ जेल से बाहर आए पूर्व सांसद अजय चौटाला अपनी जननायक जनता पार्टी के आंतरिक विरोध को शांत करने का जिम्मा संभालेंगे। यही कारण है कि वह जेल से सिरसा या हिसार की तरफ जाने की बजाए गुरुग्राम स्थित फार्म हाउस ही गए।

माना जा रहा है कि पार्टी के रणनीतिकारों के साथ मंत्रणा करने को अगले एक सप्ताह तक वे दिल्ली और गुरुग्राम में ही रहेंगे। अजय सिंह पार्टी के विधायक रामकुमार गौतम द्वारा जननायक जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पद से त्यागपत्र देने के बाद पहली बार जेल से बाहर आए हैं। जजपा के रणनीतिकारों ने उन्हें पूरे राजनीतिक घटनाक्रम से अवगत करा दिया है। उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने खुद भी अपने पिताश्री से अपनी आगामी राजनीतिक कार्ययोजना साझा की।

गौतम से अजय चौटाला के समक्ष बात करेंगे दुष्यंत

जजपा में एकाएक बने राजनीतिक हालातों पर काबू पाने के लिए अजय चौटाला और दुष्यंत चौटाला का हरसंभव प्रयास रहेगा कि वे विधायक रामकुमार गौतम को मना लें। हालांकि दुष्यंत के करीबी बता रहे हैं कि रामकुमार गौतम से कुछ मुद्दों पर कुछ अन्य नेताओं के माध्यम से पार्टी नेताओं की एक दौर की बातचीत हो चुकी है। इस वार्ता के बाद ये संकेत भी हैं कि गौतम मान जाएंगे।

असल में अभी अजय सिंह और दुष्यंत के प्रयास यही रहेंगे कि गौतम की वजह से उन्हें कोई बड़ा नुकसान न होने पाए। इसके लिए दुष्यंत ने भाजपा में अपने राजनीतिक संरक्षकों से भी संपर्क कर लिया है। गौतम से जो पहले दौर की चर्चा हुई है उस पर सहमति बनाने का जिम्मा भी अजय सिंह चौटाला ही संभालेंगे।

जेबीटी भर्ती घोटाले में जेल में बंद ओमप्रकाश चौटाला और डा. अजय सिंह को 14-14 दिन की फरलो मिली है। विधानसभा चुनाव के बाद ओमप्रकाश चौटाला के यह पहले जिला स्तरीय दौरे होंगे। ओमप्रकाश चौटाला 31 दिसंबर को सोनीपत जिला कार्यालय में अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं से मुलाकात करेंगे। इसके बाद पानीपत, करनाल और कुरुक्षेत्र होते हुए चौटाला अपने पूर्व राजनीतिक सलाहकार शेर सिंह बड़शामी के आवास पर पहुंचेंगे। उनका रात्रि विश्राम यमुनानगर में होगा।

नए साल पर 1 जनवरी को चौटाला यमुनानगर में जिला कार्यकर्ताओं से मुलाकात करेंगे। इसी दिन अंबाला और पंचकूला के कार्यकर्ताओं से उनकी मीटिंग होगी। चौटाला 2 जनवरी को चंडीगढ़ स्थित अभय सिंह चौटाला के निवास पर रहेंगे। इनेलो ने अभी ओमप्रकाश चौटाला के इन्हीं जिलों के कार्यक्रम जारी किए हैैं। बाद में बाकी जिलों के कार्यक्रम भी घोषित किए जाएंगे।

उधर, अजय सिंह चौटाला की कोशिश रहेगी कि फरलो के दौरान जजपा विधायकों खासकर नारनौंद के विधायक रामकुमार गौतम की बगावत से उपजे माहौल को शांत किया जाए। अजय सिंह जहां रामकुमार गौतम से मुलाकात कर सकते हैैं, वहीं बाकी जजपा विधायकों को भी यह भरोसा दिलाया जा सकता है कि उनके मान सम्मान में किसी तरह की कोई कमी नहीं रहेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *