कर्ज उतारने के लिए छात्रों ने रची फिरौती की योजना, पुलिस पूछताछ में हुआ बड़ा खुलासा ! 

कर्ज उतारने के लिए छात्रों ने रची फिरौती की योजना, पुलिस पूछताछ में हुआ बड़ा खुलासा ! 

दवा विक्रेता से बीस लाख की फिरौती मांगने का मामला:
कॉलेज पढऩे वाले छात्रों ने ही रची थी फिरौती मांगने की साजिश
: कर्ज उतारने के लिए योजनाबद्ध तरीके से दिया गया घटना को अंजाम
: फिरौती मांगने की घटना में कॉलेज छात्रों के साथ कई अन्य भी रहे शामिल
: पुलिस ने आरोपी कॉलेज छात्रों सहित चार को किया काबू
: झज्जर में आयोजित पत्रकार वार्ता में डीआईजी अशोक कुमार ने किया घटना का खुलासा
: झज्जर के ही एक कॉलेज मेें पढ़ते है घटना को अंजाम देने वाले दोनों छात्र

झज्जर (सुमित कुमार) :-
 झज्जर के एक होलसेल दवा विक्रेता से 20 लाख रूपए की फिरौती मांगे जाने की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। इस मामले में झज्जर पुलिस ने स्थानीय निजी कॉलेज के फार्मेसी में पढऩे वाले दो छात्रों को गिरफ्तार किया है,जिन्होंने अपना कर्ज उतारने के लिए दवा विक्रेता से बीस लाख रूपए की फिरौती मांगी। फिरौती मांगने के लिए मामले में पुलिस की गिरफ्त में आए दोनों आरोपियों में विक्रम गांव खेड़ी जट्ट व नीरज गांव खुंगाई जिला झज्जर के रहने वाले है और दोनों ही झज्जर के एसडी कॉलेज के फार्मेसी के छात्र है। पुलिस की माने तो इन दोनों छात्रों को दवा विक्रेता से फिरौती मांगने के लिए उकसाने का मुख्य सूत्रधार यहां जहांआरा बाग स्टेडियम के पास ही एक कैमिस्ट शॉप पर नौकरी करने वाला चिराग निवासी सीताराम गेट झज्जर नाम का युवक था।

उसने ही फिरौती मांगने वाले इस मामले में मुखबिर का काम किया। इसके अलावा पुलिस ने जींद जिले के गांव पेगा के रहने वाले संजय नामक युवक को भी गिरफ्तार किया है। इन सभी ने योजनाबद्ध तरीके से फिरौती मांगने की इस घटना कोअंजाम दिया। पुलिस के अनुसार फिरौती के इस मामले में दिल्ली का एक युवक अभी पुलिस पकड़ से बाहर है। उसे जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा। चार अगस्त को झज्जर के दवा विक्रेता से बीस लाख की फिरौती मांगी गई थी। इस घटना को झज्जर के एक निजी कॉलेज में पढऩे वाले दो छात्रों ने अपना कर्ज उतारने के लिए अंजाम दिया था। विक्रम और नीरज नामक इन दो कॉलेज छात्रों को मुखबिरी झज्जर के ही एक कैमिस्ट शॉप पर काम करने वाले नीरज ने दी थी। इनके साथ जींद जिले के एक गांव का संजय भी शामिल था। इन सभी को गिरफ्तार कर लिया गया है। इस घटना में किसी गैंग का कोई हाथ नहीं था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *