उपभोक्ताओं को जरूरत के अनुसार मिलेगी बिजली ! जानिए सरकार ने की क्या व्यवस्था ?

उपभोक्ताओं को जरूरत के अनुसार मिलेगी बिजली ! जानिए सरकार ने की क्या व्यवस्था ?

बिजली मंत्री रणजीत सिंह चौटाला ने दी जानकारी !
बिजली आपूर्ति के लिए पावर हाऊसों को किया जाएगा अपग्रेड !
लोगों की समस्याओं का समाधान करवाना पहली प्राथमिकता !

सिरसा, (ब्यूरो)।
हरियाणा में पिछले कई सालों से हो रहा बिजली का लाइन लॉस इस बार कम होकर 34.25 से 22.17 हो गया है….इसके साथ ही बिजली विभाग के राजस्व में भी बढ़ोतरी दर्ज की गई है…..ये जानकारी देते हुए बिजली मंत्री रणजीत सिंह चौटाला ने कहा कि अपनी बेहतर बिजली आपूर्ति व्यवस्था और लोगों के सहयोग के चलते हमने लाईन लास 13.2 प्रतिशत कम कर करके दो हजार करोड़ रुपये का फायदा किया है। जहां सिरसा जिला की बात की जाए तो  लाइन लोस 34.25 से घटकर 22.17 है। उन्होंने कहा कि निगम के बेहतर प्रबंधन व सुविधाओं के चलते बिजली राजस्व में भी बेहतर बढोतरी हुई है, जिससे निगम को लाभ हुआ है। पूर्व की सरकारें निगम को घाटे में छोड़कर गई थी। वर्तमान समय में हरियाणा के बिजली निगम 452 करोड़ रुपये के लाभ में चल रहे हैं और पिछली सरकार इन पर 33 हजार 500 करोड़ रुपये का घाटा छोड़कर गई थी। बिजली के बेहतर प्रबंधन व सुविधाओं के चलते ही आज हम प्रदेश के हजारों गांवों को 24 घंटे बिजली दे पा रहे हैं।
बिजली मंत्री ने कहा कि हमारा उद्देश्य प्रदेश के लोगों को बेहतर बिजली आपूर्ति देना है और इसके लिए हम बिजली वितरण के बुनियादी ढांचे को मजबूत कर रहे हैं। हमारे पास बिजली की कोई कमी नहीं है और उपभोक्ताओं तक बिजली आपूूर्ति के लिए हमें जहां भी पावर हाउसों को अपग्रेड करने की जरूरत होगी वहां करेंगे।
रानियां और कालांवाली में खर्च हुए 5.29 करोड़ :-
बिजली मंत्री ने बताया कि आईपीडीएस स्कीम के तहत जिला के रानियां व कालांवाली शहर को चिन्हित किया गया था। स्कीम के तहत दोनों शहरों में बिजली की विभिन्न सुविधाओं पर 5.29 करोड़ रुपये की राशि खर्च हुई है। उन्होंने कहा कि इस स्कीम के तहत शहरों में बिजली गुणवत्ता के लिए कंडक्टर की जगह केबल लगाना, नये मीटर लगाना, मीटरों बाहर लगाना, नये ट्रास्फार्मर आदि कार्य करवाए गए हैं। उन्होंने बताया कि रानियां व कालांवाली में 38 नये ट्रांस्फार्म लगाए गए हैं। इसी प्रकार 20.5 किलोमीटर की लो टेंशन लाइन व 7.88 किलोमीटर हाई टेंशन लाइन पर कंडक्टर की जगह केबल लगाई गई है, जिससे बिजली गुणवत्ता में बढोतरी हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *