इस गांव के लिए सरकार ने किया बड़ा एलान, जानिए क्या मिलेगी सुविधाएं !

इस गांव के लिए सरकार ने किया बड़ा एलान, जानिए क्या मिलेगी सुविधाएं !

गांव में कचरे का होगा उचित प्रबंध, पानी की होगी निकासी -हरदीप सिंह
ग्रामीण विकास विभाग के निदेशक ने गांव गुढ़ा में पहुंचे कर रखी आधारशिला
इस काम में खर्च होंगे 43 लाख इसी साल किया जायेगा पूरा काम 
गांव के बीच में दूषित पानी का तालाब हो से 20 साल से परेशान है ग्रामीण
गोहाना (सुनील जिंदल) :- 
 गोहाना के गांव गुढ़ा में पिछले 20 साल से गांव में बिच में दूषित पानी का तालाब बना हुआ है इस समस्या को लेकर कई गांव ग्रामीणों ने मंत्रियो व् अधिकारियो से मिलकर इसे बंद करवाने या इस समस्या को दूर करवाने की मांग करते आ रहे थे…लेकिन अब गांव वालो की ये समस्या दूर होने जा रहा है गोहाना के गांव गुढ़ा में ग्रामीण विकास विभाग हरियाणा के निदेशक हरदीप सिंह ने पहुंच कर 43 लाख की लागत से बनकर तैयार होने वाले डर्टी वाटर टोंड का शुभआरम्भ किया ये काम इसी साल में पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है इसके पूरा होने से गांव वालो को इस दूषित पानी से बड़ी निजात मिलेगी इसके साथ साथ हरदीप सिंह ने गांव में  नवनिर्मित कम्युनिटी सेंटर का भी उद्घाटन किया।

हरदीप सिंह ने कहा अबकी बार मनरेगा के तहत हरियाणा में पिछले साल में सारे रिकॉड तोड़ते हुए दो सो करोड़ से ज्यादा के काम का पैसा मनरेगा में काम करने वाले गरीब भाइयो को दिया गया है। अबकी बार मनरेगा का काम संबसे ज्यादा पसंद किया जा रहा है कही से मेटीरियल की पेमेंट देने में देरी की शिकायते आई है। उनको भी जल्द दूर किया जा रहा है।  गोहाना शहर से सटे गांव गुढ़ा में आबादी क्षेत्र के बीच में दूषित पानी का तालाब है। पहले ग्रामीण इसी तालाब में पशुओं को नहलाते व पानी पिलाते थे। गांव की गलियों का दूषित पानी करीब दो दशक से इसी तालाब में जाता है। यह तालाब रद हो चुका है और ग्रामीणों के लिए सिरदर्द बना हुआ है। पंचायत विभाग इस तालाब में दूषित पानी जाने से रोकेगा। तालाब की चारदीवारी करवा कर इसके साथ में ही कुआं बनाया जाएगा और वहां पंपसैट लगवाएगा। पंपसैट से मुख्य सीवर लाइन तक करीब 12 सौ फुट लंबाई में पाइप लाइन दबाई जाएगी। ठोस कचरे के प्रबंध के लिए विभाग द्वारा गांव में शैड बनवा कर उसमें चैंबर बनाए जाएंगे। यहां गीला कचरा डाल कर खाद तैयार किया जाएगा। पंचायत द्वारा सूखे कचरे को घर-घर से एकत्रित करके खाली जमीन में डलवाया जा रहा है। दोनों प्रोजेक्टों पर करीब 43.43 लाख रुपये खर्च होंगे। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *