आशा वर्करों की लंबित पड़ी मांगे, अब उतरे सड़को पर !

आशा वर्करों की लंबित पड़ी मांगे, अब उतरे सड़को पर !

अस्पताल पिहोवा के प्रांगण में चार दिवसीय धरना प्रर्दशन !
सरकार के खिलाफ निकाली रोष रैली !
पिहोवा (गगन सांगर ):-
आशा वर्करों द्वारा उनकी लंबित मांगों को लेकर आशा वर्कर युनियन  हरियाणा के बैनर तले सरकारी हस्पताल पिहोवा के प्रांगण में 4 दिवसीय हड़ताल कर धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया है…. और प्रदर्शन के दौरान उन्होने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल , स्वास्थय मंत्री अनिज विज के खिलाफ जमकर भड़ास भी निकाली। राज्य उपप्रधान रानी देवी ने सरकार पर आरोप लगाया कि मांगों के संदर्भ में वह सरकार से बातचीत कर चुके हैं…. लेकिन इसके बावजूद जानबूझकर उनकी समस्याओं का समाधान  नहीं किया जा रहा है। पहले भी वह तीन दिवसीय हड़ताल कर चुके हैं , लेकिन सरकार उनकी पूरी तरह से अनदेखी कर रही है ।

वह कोविड-19 में पूरी ईमानदारी व निष्ठा से कार्य कर रहे हैं लेकिन उन्हे केवल 4000 रूपये दिए जा रहे हैं, जो कि उनके  द्वारा डयूटी को देखते हुए पर्याप्त नहीं है। यदि उन्हे इस डयूटी के दौरान कुछ हो जाए तो इतनी रकम से उनकी भरपाई नहीं हो सकती । उनकी मांग है कि उन्हे न्यूनतम वेतन दिया जाए और इसके साथ साथ उन्हे कोविड-19 में काम करते उनके लिए सुरक्षित रहने का प्रबन्ध किया जाए। उनकी मांग है कि जनता को गुणवता स्वास्थय सुविधाएं प्रदान करने के लिए सरकारी स्वास्थय के ढांचे को मजबूत किया जाये व एनएचएम को भी स्थाई किया जाए। गंभीर रूप से बीमार एवं दूर्घटना के शिकार आशा वर्कर को सरकार के पैनल अस्पतालों में इलाज की सुविधा दी जाये।  उन्हे हरियाणा सरकार का न्यूनतम वेतन दिया जाए। उन्होने चेतावनी देते हुए कहा कि जब तक उनकी मांगे पूरी नहीं होती तब तक उनका धरना प्रदर्शन जारी रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *