आयुर्वेदिक चिकित्सक ने दी लोगों को इम्यूनिटी बूस्ट करने की सलाह, कोरोना से बचाव में है फायदेमंद…

आयुर्वेदिक चिकित्सक ने दी लोगों को इम्यूनिटी बूस्ट करने की सलाह, कोरोना से बचाव में है फायदेमंद...

सुंदरनगर (नितेश सैनी)। विश्वभर में फैली कोरोना महामारी के चलते लोगो की परेशानिया कम होती नजर नहीं आ रही है। जहां एक ओर कोरोना महामारी पूरे विश्व को अपने जाल में फसा चुकी है। तो दूसरी ओर इससे बचाव को लेकर चिकित्सकों द्वारा आम जनता को इम्यूनिटी बूस्ट करने सलाह दी जा रही है। इस बीमारी से बचाव को लेकर शरीर की इम्यूनिटी बढ़ानी बहुत जरूरी है। इसको लेकर मंडी जिला के उपमंडल सुंदरनगर के छातर की आयुर्वेदिक चिकित्सालय की डा.मोनिका शर्मा ने कहा कि जिन लोगों की इम्यूनिटी अच्छी होती है वे लोग कोरोना महामारी की चपेट में नहीं आ सकते हैं। जिनकी इम्यूनिटी कमजोर होती है, वह ज्यादा बीमारी से ग्रस्त होते हैं। कोरोना वायरस से बचने के लिए शरीर की इम्यूनिटी आपकी मदद करेगी। सिर्फ कोरोना वायरस ही नहीं अन्य वायरस जैसे सामान्य फ्लू, स्वाइन फ्लू आदि से बचने के लिए इम्यूनिटी काम करती है। शरीर को नुकसान से बचाने के लिए यह सुनिश्चित करें कि आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली सही से कार्य करें।

आयुर्वेदिक पद्धति के अनुसार संतुलित रूप से विभिन्न पदार्थों के सेवन के नियमित इस्तेमाल से हम कोविड-19 से लड़ने की क्षमता अपने शरीर में बना सकते हैं। डा. मोनिका शर्मा ने बताया कि सर्दी-जुकाम और फ्लू से बचाव के लिए कुछ ऐसे फल भी हैं जो आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत कर सकते हैं। खट्टे फल सीधा इम्यूनिटी पर असर करते हैं और इसे बढ़ाने में मददगार हैं। खट्टे फल विटामिन-सी से भरपूर होते हैं और इससे प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत होती है। यही नहीं, विटामिन-सी को सफेद रक्त कोशिकाओं के उत्पादन को बढ़ाने के लिए जाना जाता है। ये संक्रमण से लड़ने में बहुत उपयोगी हैं। अपनी डाइट में अनार, पपीता, संतरा, नींबू, मौसंबी, सेब, अंगूर, अमरूद, अनानास, शहतूत सदृश फल आदि को शामिल करें। डा. मोनिका शर्मा ने बताया कि योग करके भी आप शरीर की इम्यूनिटी को बढ़ा सकते हैं।

यह भी पढ़े: अंबाला छावनी में पटरियों के स्लीपर को नए सिरे से बिछाने का काम हुआ शुरू…

कमजोर प्रतिरोधक क्षमता वाला शरीर बीमारियों का सामना नहीं कर पाता। सही तरह के भोजन से हमारे इम्यून सिस्टम पर अच्छा प्रभाव पड़ता है। साथ में व्यायाम और योगासन भी इम्यूनिटी को मजबूत करने में बहुत ही कारगर साबित होते हैं। योग में कुछ प्राणायाम और आसन हैं, जिसे अगर आप नियमित रूप से करें तो आप अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा सकते हैं। रोजाना 30 मिनट तक सामान्य अभ्यास योग क्रियाएं करें। डा. मोनिका शर्मा ने बताया कि इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए अनाज में चावल, ज्वार, बाजरा, चौलाई व रागी इस्तेमाल करें। दालों में मूंग, मसर, चना, मटर, काला चना, राजमाह, सफेद चना, रौंग व सब्जी में टमाटर, प्याज, कद्दू, ब्रोकोली, गोभी, मशरूम, शंकरकंदी, पालक, मैथी, फलियां, गाजर, शिमला मिर्च, खीरा, ककड़ी, धनिया, चुकंदर और मसालों में हल्दी, काली मिर्च, सफेद मिर्च, जीरा, अदरक, लहसुन, दालचीनी, छोटी-बड़ी इलायची, लॉग, सौंफ, सरसों, अजवायन, जायफल, चक्रफूल को शामिल करें।

मोनिका शर्मा ने बताया कि तेल में घी, नारियल तेल, जैतून तेल (कम गर्म करके), तिल, एरंड व अलसी तेल व पशु स्त्रोत में दूध से बने पदार्थ, अंडे, शहद, मछली, मुर्गा, बीज में कद्दू, सूरजमुखी, तरबूज, तिल, कलौंजी, अलसी, चिया, हलीम, सब्जा (तुलसी के बीज),मेवा में अखरोट, बादाम, काजू, सुरमानी, नारियल पिस्ता, मूंगफली, चीलगोजा और अन्य में चावल कांजी, आचार, सेब का सिरका, खिमची, स्पिरूलीना, गुड़, अंकुरित खाद्य पदार्थ, ग्रीन-टी व हरी ज्वार का इस्तेमाल करें। डा. मोनिका ने कहा कि शरीर की इम्यूनिटी बढ़ाने में औषधीय पौधे भी कारगर साबित होते हैं। उन्होंने कहा औषधीय पौधे में पुदीना, तुलसी, शतावरी, मुलेठी, ब्रह्मी, अश्वगंधा, शिग्रु, पपीते के पत्ते, गिलोय, आंबला, तालमखाना, सौंठ, त्रिफला, चित्रक, वचा, मंडूकपर्णी, नागबला आदि को शामिल करें।

Published By: Pooja Saini

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *