आमजन भी अब अपने बच्चों को पढ़ा सकते है ENGLISH MEDIUM SCHOOL में, नहीं देनी होगी भरकम फीस, जानिए कैसे ?

आमजन भी अब अपने बच्चों को पढ़ा सकते है ENGLISH MEDIUM SCHOOL में, नहीं देनी होगी भरकम फीस, जानिए कैसे ?

अग्रेंजी स्कूलों में पढ़ाने के लिए अब नहीं देनी पडे़गी भारी भरकम फीस: विधायक ईश्वर सिंह
हलका के दो सरकारी स्कूलों को मॉडल संस्कृति स्कूल बनाकर दी जाएगी इंग्लिश मीडियम में तालिम।

गुहला-चीका (सुरिन्दर वधावन ):-
 आमजन को अपने बच्चों को इंग्लिश मीडियम स्कूल में पढ़ाने के लिए भारी भरकम फीस नहीं देनी पड़ेगी। हरियाणा सरकार द्वारा पहले से चल रहे सरकारी स्कूलों को मॉडल संस्कृति स्कूल बनाया जाएगा, जिसमें इंग्लिश मीडियम में पढ़ाई होगी। विधायक ईश्वर सिंह ने बताया कि इसके लिए इंग्लिश मीडियम में पढ़ाने वाले योग्य शिक्षकों की नियुक्ति की जाएगी। उन्होंने बताया कि गुहला विधानसभा क्षेत्र इस लिहाज से सौभाग्यशाली है कि यहां चीका व सीवन ब्लाक दोनों को अब एक-एक माडल संस्कृति स्कूल की सौगात मिलेगी। इसके लिए हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने स्वीकृति प्रदान कर दी है। बाहरवीं तक के इन विद्यालयों में सह शिक्षा होगी, जहां लड़के व लड़कियां एक साथ अगे्रंजी माध्यम की शिक्षा ग्रहण कर सकेगें। गौरतलब है कि संस्कृति मॉडल स्कूल पॉलिसी को कुछ दिन पहले ही सरकार ने लागू किया। इसके लिए विधायकों को ही अपने क्षेत्र में एक-एक स्कूल का नाम देने के लिए कहा गया था। इस पर विधायक ईश्वर सिंह ने राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय चीका व राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय, सीवन का नाम सुझाया है।

विधायक ने कहा कि शिक्षा विभाग निदेशालय से पत्र आते ही इन स्कूलों को मॉडल संस्कृति स्कूल के रूप में तबदील किया जाएगा। इसके लिए शिक्षा विभाग की तरफ से पूरी तैयारियां है। विधायक ने बताया कि पिछले सप्ताह चंडीगढ़ में मुख्यमंत्री मनोहर लाल से मुलाकात कर चीका व सीवन राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक स्कूलों को मॉडल संस्कृति स्कूल बनाने का प्रस्ताव रखा था, जिस पर मुख्यमंत्री ने इन स्कूलों को मॉडल संस्कृति स्कूल बनाने पर मोहर लगाई।  उन्होंने कहा कि गुहला विधानसभा क्षेत्र के विद्यार्थियों के लिए यह बहुत बड़ी सौगात है। बच्चों को भारी भरकम फीस देकर इंग्लिश मीडियम विषय पढ़ने के लिए निजी स्कूलों में दाखिला लेना पड़ता है, लेकिन मुख्यमंत्री के प्रयासों से अब बच्चों को राजकीय स्कूलों में ही इंग्लिश मीडिय में शिक्षण सुविधा मिलेगी। विधायक ने बताया कि इंग्लिश मीडियम के विषय पढ़ाने वाले शिक्षकों का चयन किया जाएगा।

इसके लिए शिक्षा विभाग निदेशालय चंडीगढ़ द्वारा पूरे प्रदेश से इंग्लिश मीडियम स्कूलों में पढ़ाने के लिए इच्छा अनुसार आवेदन मांगे जाएंगे। इसके बाद मुख्यालय स्तर पर गठित कमेटी द्वारा शिक्षकों का चयन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि जिला शिक्षा विभाग द्वारा इन स्कूलों को मॉडल संस्कृति स्कूल के रूप में चलाने की तैयारियां की गई हैं, जैसे ही शिक्षा विभाग निदेशालय की तरफ से जिला प्रशासन के पास पत्र पहुंचेगा तो इस योजना को अमलीजामा पहनाया जाएगा। इतना ही नहीं अगर शिक्षा विभाग का पत्र जल्द आ जाता है तो इस सत्र के लिए भी ऑनलाइन दाखिले की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। मॉडल संस्कृति स्कूल बनने से क्षेत्र के विद्यार्थियों को राजकीय स्कूलों में अच्छी शिक्षा मिल पाएगी। इन स्कूलों को इंग्लिश मीडियम बनाया जाएगा और यह स्कूल को-एजुकेशन का होगा तथा लड़के व लड़कियां एक साथ शिक्षा ग्रहण कर सकेंगे। 
विधायक ईश्वर सिंह ने सुनी जन समस्याएं :- 
विधायक ईश्वर सिंह ने सभी अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि लोगों की समस्याओं को प्राथमिकता के आधार पर हल किया जाए। किसी भी नगरवासी को कोई भी समस्या नहीं आनी चाहिए, सभी की समस्याओं का अधिकारी समय रहते समाधान करना सुनिश्चत करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *