अब नाम के पीछे गोत्र की वजाए लगेगा गांव का नाम, खेड़ा खाप पंचायत ने लिया फैसला ! 

अब नाम के पीछे गोत्र की वजाए लगेगा गांव का नाम, खेड़ा खाप पंचायत ने लिया फैसला ! 

सभी धर्मो के प्रतिनिधियों ने एक मत से जताई सहमति ! 
जींद (अनिल कुमार) :-
 हिन्दू ,मुस्लिम ,सिख और  ईसाई आपस में सब भाई- भाई यह  स्लोगन मात्र एक स्लोगन ही बनकर रहा गया है आज समाज में अगर जहर घुला है तो धर्म और जातिवाद का इसी गहन चिंतन को लेकर पिछले कई महीनो से भाई चारा कायम करने की दिशा लगी खेड़ा खाप पंचायत जिसने अपने ही गावं से नाम के साथ गोत्र लगाए जाने की परम्परा को ख़त्म कर नाम के पीछे सिर्फ गावं का नाम ही लगने की दिशा में अभियान चलाया था अब आपसी भाई चारा सभी धर्म एक है के अभियान का बीड़ा उठा कर  समाज में आपसी भाईचारा कायम करने  के लिए खेड़ा खाप ने जींद की  जाट धर्मशाला में हिंदू, मुस्लिम, सिख व ईसाई धर्म के लोगों कीबैठक बुलाकर आपसी भाईचारा बनाने  और सभी धर्म एक है को लेकर एक मंच बनाया है जिसमे सभी धर्मो के प्रतिनिधियों ने एक मत से इस अभियान में समय होकर जन सन्देश का बीड़ा उठाने में अपनी सहमति जताई |  खेड़ा खाप के प्रधान सतबीर पहलवान की अध्यक्षता में हुई बैठक  में सर्व धर्म-कर्म भाईचारा मंच बनाया गया। 

सतबीर पहलवान ने बताया कि इस मंच में कोई राजनीतिक व्यक्ति नहीं है। सभी सामाजिक व्यक्ति हैं। खेड़ा खाप ने जात-पात के खिलाफ अभियान चलाया हुआ है। देशभर में आए दिन जात व धर्म के नाम पर विवाद सुनने को मिलते हैं। जिससे देश की एकता व् अखडंता को ठेस पहुंचती है इसलिए उन्होंने इस जातिपाति धर्म को तोड़ने वालो खिलाफ एक मंच बनाया है और जिसमे सभी धर्मो के प्रतिनिधि शामिल हुए है वे इस मंच के माध्यम से सभी धर्मो के लोगो को एक मांस पर इकठा करके आपसी ईचारा कायम करने के लिए   एक विशेष अभियान चलाएंगे | वहीं सिख धर्म के प्रतिनिधि सरदार गुरविंदर सिंह मूसलीम  समाज से मनफूल सिंह ने कहा कि सभी धर्म के लोग भी चाहते हैं कि हम एक हों। जात-धर्म के नाम पर लोग बंट चुके हैं, जिससे भाईचारा खराब हुआ है। मीटिंग में सभी धर्मों के लोग एकत्रित होकर संदेश देना चाहते हैं कि हम सब एक हैं। हमें खुद से पहल करनी चाहिए।समाज से  भी मंच बनाने की पहल की सराहना करते हुए कहा कि इस मंच के माध्यम से प्रदेश ही नहीं देशभर में आपसी भाईचारा बढ़ाने का संदेश दिया जाएगा। वे अपने-अपने एरिया में जाकर लोगों को बताएंगे कि धर्म के नाम से बंटने से हमारा ही नुकसान हो रहा है। सभी धर्मों के लोग बराबर हैं। इसलिए सभी मिल-जुलकर प्रेम से रहें। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *